Margin Trading Meaning in Hindi | Margin Trading Kya Hota Hai ? Moneyroma Official

What is Margin Trading – मार्जिन ट्रेडिंग क्या होता है ?

स्टॉक मार्केट में लेवरेज या मार्जिन ट्रेडिंग क्या होती है हम मार्जिन ट्रेडिंग कैसे कर सकते हैं और क्या मार्जिन ट्रेडिंग करना सही है आज हम इस पोस्ट में सभी सवालों के जवाब जानेंगे।

 

हमारा पहला सवाल है लेवरेज या जिसे हम मार्जिन ट्रेडिंग भी कहते हैं यह क्या हैं। दोस्तों मार्जिन ट्रेडिंग एक फैसिलिटी होती है जिसे हर ब्रोकर्स अपने कस्टमर को देते हैं। इसकी मदद से कम पैसों में ज्यादा शेयर खरीद सकते हैं। उदाहरण के लिए, अगर एक ब्रोकर किसी शेयर पर 10 टाइम्स का मार्जिन देता है तो हम उस ब्रोकर के पास एक शेयर के प्राइस पर 10 शेयर्स खरीद सकते हैं।

तो दोस्त हो अगर एक ब्रोकर एसबीआई के स्टॉक पर 10 टाइम्स का मार्जिन या लिवरेज दे रहा है और अगर एसबीआई की एक शेयर का प्राइस ₹100 है तो हम ₹100 में एक शेर के बजाय एसबीआई के 10 शेयर खरीद सकते हैं। इसका मतलब हुआ कि हम ₹100 में ₹1000 के एसबीआई शेयर्स खरीद सकते हैं।

दोस्तों, ध्यान देने वाली बात यह है की ज्यादातर ब्रोकर मार्जिन या लेवरेज बस इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए ही देते हैं। और बहुत कम ऐसे ब्रोकर्स हैं जो हमें पोजीशन या स्विंग ट्रेडिंग के लिए लिवरेज या मार्जिन देते हैं। और दोस्तों लॉन्ग टर्म इन्वेस्टिंग के लिए कोई भी ब्रोकर मार्जिन नहीं देता। साथ ही साथ दोस्तों हरीश टॉप पर मार्जिन अलग अलग होता है। देखा जाए तो बहुत अच्छी और बड़ी कंपनियों के शेयर पर मार्जिन ज्यादा होता है वही छोटी कंपनियों के शेयर पर मार्जिन कम होता है। और किसी स्टॉप पर मार्जिन देना या ना देना या कितने टाइम्स का देना यह हर ब्रोकर अपने हिसाब से फैसला करता है।

Margin Trading Meaning in Hindi

Leave a Comment